परिचय

जीवन दर्शन - कार्यरत

राजेंद्र सिंह राठौड़ (जन्म 21 अप्रैल 1955) एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं, जो वर्तमान में राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के उप नेता के रूप में सेवा कर रहे हैं।
वे चूरू निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता हैं |

Play Video

Stay tuned and receive updates

जीवन दर्शन

राजेंद्र राठौड़ राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष के रूप में कार्य नित है । उन्होंने वर्ष 1990, 1993, 1998, 2003, 2008 (तारानगर) 2013 और 2018  में चूरू विधानसभा सीट से जीत हासिल की। वर्ष 2019 में कांग्रेस सरकार बनने के बाद भाजपा आलाकमान ने राजेन्द्र राठौड़ के राजनीतिक अनुभव, नेतृत्व कौशल व कार्यकुशलता को देखते हुए उन्हें राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष का दायित्व सौंपा, वर्तमान में वे इस पद का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ एवं अनुभवी नेता के रूप में पहचाने जाने वाले राजेन्द्र राठौड़ ने सत्ता हो या संगठन हर समय संकटमोचक बनने का काम किया है। उन्होंने हमेशा से जनता के सीधा संवाद करने पर जोर दिया है, यही वजह है कि हर तबके के लोग राजेन्द्र राठौड़ के व्यक्तित्व व व्यवहार कौशल के कायल हैं। जमीनी स्तर से जुड़ाव रखने वाले राजेन्द्र राठौड़ की सादगीपूर्ण जीवनशैली, विनम्र स्वभाव व 24 घंटे जनहित में समर्पित रहने जैसे विभिन्न गुणों की प्रशंसा जनता ही नहीं बल्कि राज्य व केन्द्रीय स्तर के नेता भी करते हैं। जनता से जुड़े मुद्दों पर ध्यान देने, सरकार की कार्यशैली पर पैनी नजर रखने, सरकारी की गलत नीतियों का प्रखर विरोध करने और छोटे से छोटे पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ स्थायी संपर्क की योग्यताओं जैसी उनकी संगठनात्मक क्षमताओं की वजह से भाजपा आलाकमान का उन पर अटूट भरोसा हैं।

2020-03-26
rajender rathore

रोचक तथ्य

राजेन्द्र राठौड़ देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चन्द्रशेखर व पूर्व उपराष्ट्रपति स्व. भैरोंसिंह शेखावत जी को अपना राजनीतिक गुरु मानते हैं। इनसे प्रभावित होकर ही राजेन्द्र राठौड़ ने राजस्थान की मुख्यधारा की राजनीति में कदम रखा। वर्ष 1990 से लेकर अब तक राजेन्द्र राठौड़ ने लगातार जीत हासिल कर जो रिकॉर्ड कायम किया है वो अद्वितीय है।राजेन्द्र राठौड़ कुशल वक्ता व अनुभवी राजनीतिज्ञ के तौर पर पक्ष-विपक्ष हर जगह बेहद सम्मानीय हैं और प्रदेश की राजनीति में दिग्गज नेताओं में से एक हैं। वे समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर प्रदेश की राजनीति व विकास में एक सकारात्मक बदलाव ला रहे हैं। राजनीतिक व्यस्तता के बीच वे अपने व परिवार के लिए समय भी निकालते हैं। उन्हें रेडियो सुनना, कबड्डी खेलना, आध्यात्मिक साहित्य पढ़ना व बुद्धिजीवियों के साथ वार्तालाप करना बेहद पसंद हैं।