कोरोना से जंग

 

नमस्कार मेरे प्यारे प्रदेशवासियों!

वैश्विक महामारी कोरोना संकट को हिन्दुस्तान में फैलने से रोकने के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत के हर नागरिक ने कंधे से कंधा मिलाते हुए इस महामारी का डटकर मुकाबला करने का जो संकल्प लिया है, वास्तव में ये काबिलेतारीफ है।

जब हम दुनिया की तरफ देखते हैं तो हमें अनुभव होता है कि भारत कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हर मोर्चे पर मजबूती से खड़ा है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई अकेली नहीं लड़ी जा सकती है, साझा प्रयासों से ही यह जंग लड़ी जा रही है और उसमें सफलता भी नजर आ रही है। भारत की जनसंख्या अन्य संक्रमित देशों के मुकाबले काफी ज्यादा है लेकिन फिर भी देश में कोरोना से होने वाली मृत्यु दर काफी कम है।

22 मार्च को जनता कर्फ्यू के बाद प्रधानमंत्री जी ने 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया था जो 4 चरणों तक चला है और अभी भी कई पाबंदियों के साथ चालू है। 31 मई के बाद भारतीय अर्थव्यस्था का एक बड़ा हिस्सा खुल गया है और फिर से आम जीवन सामान्य होने लगा है।

साथियों इस बात का विशेष ध्यान रखें कि लॉकडाउन खुलने के बाद हमें पहले से ज्यादा सावधानी की जरूरत है। दो गज की दूरी का नियम हो, साबुन या सैनिटाइजर का उपयोग, मुँह पर मास्क लगाना और हां जहां तक जरूरी न हो घर से बाहर नहीं निकलने की पालना जैसी अनेकों ऐसी बातें है जो जिसका हमने लॉकडाउन के दौरान पूरे समर्पण व लगन से पालन किया है, अब लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद हमें इसमें जरा भी ढिलाई नहीं बरतनी है। जो अनुशासन व संयम पहले दिखाया है वो ही अब भी दिखाना है।

जिम्मेदार नागरिक के तौर पर हम सभी का उत्तरदायित्व है कि हम सरकार द्वारा बताये मार्ग का अनुसरण करें ताकि हम स्वयं को, समाज को, देश को और और समूचे जगत को बचाने में सफल हो। लड़ाई भले ही लंबी है लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि हम कोरोना पर विजय अवश्य हासिल करेंगे।

जय हिन्द – जय भारत

आपका

राजेन्द्र राठौड़

Leave a reply